Monday, May 20, 2024
Homeउत्तराखण्डउत्तराखंड जूनियर हाई स्कूल प्रधानाध्यापक समिति ने की अपनी तीसरी पद्धौन्नति की...

उत्तराखंड जूनियर हाई स्कूल प्रधानाध्यापक समिति ने की अपनी तीसरी पद्धौन्नति की मांग

 
उत्तर काशी (कीर्ति निधि सजवाण):  उत्तराखंड जूनियर हाईस्कूल प्रधानाध्यापक समिति ने अपनी न्यायोचित मांगों हेतु अपना मांग पत्र  शिक्षा मंत्री को प्रेषित किया है। उत्तराखंड जूनियर हाईस्कूल प्रधानाध्यापक समिति के प्रदेशाध्यक्ष  सुन्दर नारायण मिश्रा ने बताया कि हम विगत कई समय से जूनियर हाईस्कूलों में कार्यरत प्रधानाध्यपकों की तीसरी पद्धौन्नति की न्यायोचित मांगों के लिए संघर्षरत हैं। जिसमें प्रमुख रूप से प्रधानाध्यापकों की पद्धौन्नति अविभाजित उत्तरप्रदेश की भांति क्षेत्रीय प्रति विधालय निरीक्षक (s.d.i)के पद पर की जाय जिससे प्रारम्भिक शिक्षा में गुणात्मक सुधार हो सके।
समिति यह भी मांग करती है कि प्रारम्भिक शिक्षा में गुणात्मक सुधार हेतु न्यायपंचायत स्तर पर ग्रेड वेतन 5400 का पद सृजित कर राजकीय जूनियर हाईस्कूलों में कार्यरत प्रधानाध्यपकों पद्धौन्नति प्रदान की जाय, जिससे कर्मचारी सेवा नियमावली में वर्णित तीसरी पद्धौन्नति का लाभ प्रधानाध्यापक जूनियर हाईस्कूलों को मिल सके। जिससे क्षेत्रीय स्तर पर प्रारम्भिक शिक्षा में गुणात्मक सुधार हो सके।तथा प्रारम्भिक शिक्षा में आ रही कमियों का निस्तारण हो सके तथा प्रारम्भिक शिक्षा में क्षेत्रीय स्तर पर आ रही कमियों को दूर करने सहयता मिल सके।
न्यायपंचायत स्तर पर इकाई को सशक्त करने पर शिक्षा में गुणात्मक सुधार किया जा सकता। क्षेत्रीय स्तर पर प्रारम्भिक शिक्षा में आ रही जटिलताओं को दूर करने हेतु संकुल शिक्षा अधिकारी का पद सृजित कर देने पर संकुल का छोटा स्तर होने पर संकुल के प्रत्येक विद्यालय का भौतिक संसाधनों एवं शैक्षणिक प्रक्रियाओं का बारीक से निरीक्षण एवं विभागीय स्तर पर किये जा रहे छात्र हित में किये जा रहे कार्यक्रमों का क्रियान्वयन सरलता से किया जा सकता है।
उपरोक्त मांगों के अलावा उत्तराखंड जूनियर हाईस्कूल प्रधानाध्यापक समिति ने शासन से मांग की है कि जूनियर प्रधानाध्यपकों को माध्यमिक विद्यालयों हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक पद पर पद्धौन्नति प्रदान की जाय, एवं जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान में वरिष्ठ प्रवक्ता पद पर पदोन्नति प्रदान की जाय। जिससे राजकीय जूनियर हाईस्कूलों में कार्यरत प्रधानाध्यपकों के लम्बे शैक्षणिक अनुभवों का लाभ छात्र हित में लिया जा सके।एवं समित यह भी मांग करती है कि सरकार द्वारा उत्तराखंड राज्य अन्तर्गत प्रत्येक विकासखण्ड में खोले गए राजकीय जूनियर हाईस्कूल माडल स्कूलों में ग्रेड वेतन 5400 का पद सृजित कर राजकीय जूनियर हाईस्कूलों में कार्यरत प्रधानाध्यपकों को पद्धौन्नति प्रदान की जाय।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments