Tuesday, May 21, 2024
Homeउत्तराखण्डएसजीआरआर विश्वविद्यालय के प्रागंण से विश्वकल्याण के लिए बही योगधारा, 07 से 55...

एसजीआरआर विश्वविद्यालय के प्रागंण से विश्वकल्याण के लिए बही योगधारा, 07 से 55 वर्ष की आयु वर्ग योगसाधकों ने भारत की प्राचीन योग साधना को मनमोहक तरीके से मंच पर किया प्रस्तुत

 
देहरादून। ध्यान एकाग्रता और अनुशासित योगासनों के समागम पर आधारित दो दिवसीय “नेशनल योगासन चैंपियनशिप“ का रविवार को मनमोहक प्रस्तुतियों के साथ समापन हो गया। दो दिवसीय “नेशनल योगासन चैंपियनशिप“ में प्रतिभाग करने के लिए देश के 18 राज्यों से योग छात्र-छात्राएं, योग शिक्षक व योग साधक पिछले दो दिनों से श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में जुटे हुए थे। “नेशनल योगासन चैंपियनशिप“ में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले योग छात्र-छात्राओं व योग साधकों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।  दो दिवसीय चैम्पियंनशिप में श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के योग विभाग के छात्र-छात्राओं ने भी विशेष पहचान छोड़ी। रविवार को 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के डाॅ अनिल थपलियाल की योग प्रस्तुति भी चैम्पियनशिप के आकर्षण का मुख्य केन्द्र रही। 
07 वर्ष से लेकर 55 वर्ष के योग साधकों ने श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में ऐसी योगधारा बहाई जिसने हर किसी को मंत्रमुग्ध कर दिया। योगा चैम्पियनशिप में छोटे छोटे बच्चों के हैरान करने देने वाले अनुशासित आसनों व योग क्रियाओं को दर्शकों की भरपूर सर्मथन मिला। समागम ऐसा के 7 वर्ष की छात्रा के आसन ने हैरान किया तो 50 वर्षीय शिक्षक की प्रस्तुति ने योगासनों की उंचाईयों को वर्णित किया। “योग स्पोर्ट्स फाउंडेशन“ एवं एसजीआरआर “स्कूल ऑफ योगिक सांइस एंड नैचुरोपेथी“ के  संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस “नेशनल योगासन चैंपियनशिप“ में दिल्ली की योग छात्रा स्वास्तिका  ने मिस योगा इंडिया का खिताब जीता। 
श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय की स्कूल ऑफ योगिक सांइस एवम् नैचुरोपैथी की डीन डाॅ सरस्वती काला ने प्रतियोगिता के विजेताओं के बारे में जानकारी दी। बालक वर्ग 7 से 12 वर्ष में जितेन्द्र प्रथम, 9 से 12 वर्ष गुजरात के पटेल विजय को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। 12 से 15 वर्ष में असम के प्रीतम पाॅल, 15 से 18 वर्ष में मध्य प्रदेश के प्रशांत व 18 से 21 वर्ष में श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय, देहरादून उत्तराखण्ड के छात्र अनुराग सैनी प्रथम रहे। 21 से 25 वर्ष में अनीष, 25 से 30 वर्ष में असम के राहुल पाॅल, 30 से 35 वर्ष में गुजरात के सुरेश भाई व 35 से 45 वर्ष की आयु वर्ग में ठाकुर जयंती ने पहला पुरस्कार जीता। 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के डाॅ अनिल थपलियाल ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर प्रथम पुरस्कार जीता। 
बालिका वर्ग में 7 से 9 वर्ष सावी ठाकुर, 9 से 12 वर्ष अयुत्मा नाथ, 12 से 15 आयुवर्ग में चेतना, 15 से 18 में दिल्ली की वाणी त्यागी व 18 से 21 वर्ग में उत्तराखण्ड से श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ योगिक सांइस एवम् नैचुरोपैथी की छात्रा दिव्या रतूड़ी व सरस्वती ने संयुक्त रूप से प्रथम स्थान प्राप्त किया। 21 से 25 आयुवर्ग में शिवानी राजपूत, 25 से 30 में फातिमा, 30 से 35 में दर्शना, 35 से 45 में महाराष्ट की स्वाति पाटिल व 45 से उपर के आयु वर्ग में कालन्दी सरस्वती अव्व्ल रहीं। 
योग स्पोर्ट्स फाउंडेशन के महासचिव डॉ. शिवम मिश्रा ने जानकारी देते हुए किए गए जिसमें ओवरऑल विनर स्टेट में पहले स्थान पर पंजाब, दूसरे स्थान पर दिल्ली एवं तीसरे स्थान पर गुजरात रहा। बेस्ट कोच अवार्ड पंजाब के संजय कुमार को दिया गया।  बताया कि दो दिन तक चली इस चैंपियनशिप में विभिन्न वर्गों के कई सत्र आयोजित चैंपियनशिप में “चन्द्र भूषण मिश्रा योग अलंकरण पुरस्कार” से विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. अजय कुमार खण्डूड़ी को सम्मानित किया गया। इस राष्ट्रीय स्तर की चैंपियनशिप में 7 देशों के योग साधकों समेत 18 राज्यों के 290 प्रतिभागी, विभिन्न विश्वविद्यालयों के 100 से अधिक छात्रों समेत योग केंद्र  के छात्र शामिल रहे।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments