Wednesday, April 24, 2024
Homeउत्तराखण्डउत्तराखंड : इस योजना के तहत सिविल सर्विसेज कराई जाएगी निशुल्क तैयारी,...

उत्तराखंड : इस योजना के तहत सिविल सर्विसेज कराई जाएगी निशुल्क तैयारी, पढ़ें पूरी खबर

 

देहरादून : अगर आप UPSC, SSC की परीक्षा और राज्य की सिविल सर्विसेज परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं। अगर इन परीक्षाओं की तैयारियों आपके आड़े आर्थिक तंगी आ रही है, तो अब आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। अब आपको ना तो पैसों की चिंता करनी है और ना ही तैयारी की। केंद्र सरकार की एक योजना के तहत जहां निशुल्क तैयारी कराई जाएगी।

देनी होगी परीक्षा 

वहीं, जब तक सिविल सेवा में चयन ना हो, तब तक 15 हजार रुपये भी स्टाइपेंड के रूप में मिलेंगे। गढ़वाल विवि की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक, SC, OBC के छात्रों को UPSC सिविल सेवा सहित अन्य परीक्षा, SSC की परीक्षा और राज्य की सिविल सेवा परीक्षा की मुफ्त कोचिंग दी जाएगी। मुख्य परीक्षा स्तर तक चुने जाने पर एकमुश्त 15 हजार रुपये मिलेंगे।

SC/ST OBC के होनहार युवाओं के लिए मौका 

अनुसूचित जाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के होनहारों को केंद्रीय सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्रालय की योजना के तहत गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय में UPSC, SSC की निशुल्क कोचिंग दी जाएगी। इसके लिए सितंबर के आखिरी सप्ताह में कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (CET) होगा, जिसकी ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया गढ़वाल विवि ने शुरू कर दी है।

स्टाइपेंड भी मिलेगा

चुने गए छात्रों को हर महीने केंद्रीय मंत्रालय से 4000 रुपये स्टाइपेंड मिलेगा। मुख्य परीक्षा स्तर तक चुने जाने पर एकमुश्त 15000 हजार रुपये मिलेंगे। गढ़वाल विवि की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक, इस योजना के तहत SSC, OBC के छात्रों को UPSC सिविल सेवा सहित अन्य परीक्षा, एसएससी की परीक्षा और राज्य की सिविल सेवा परीक्षा की मुफ्त कोचिंग दी जाएगी।

कुल 100 सीटें

कुल 100 सीटें हैं, जिनमें से 70 सीटें एससी और 30 सीटें OBC छात्रों के लिए आरक्षित हैं। दोनों में 33 प्रतिशत सीटें छात्राओं के लिए आरक्षित होंगी। चुने जाने वालों से कोर्स फीस ली जाएगी, लेकिन बाद में केंद्रीय मंत्रालय की ओर से पूरी रिफंड कर दी जाएगी।

सख्त हैं नियम 

अगर कोई छात्र लगातार चार दिन तक बिना वाजिब कारण बताए क्लासेज से गैरहाजिर हो जाएगा तो उसे योजना से बाहर कर दिया जाएगा। हर छात्र की आधार बेस्ड बायोमीट्रिक हाजिरी लगेगी, जिसकी रिपोर्ट हर महीने गढ़वाल विवि की ओर से मंत्रालय को भेजी जाएगी। कोचिंग कोर्स की अवधि एक साल होगी और SSC के कोचिंग कोर्स की अवधि छह से नौ महीने की होगी। CET परीक्षा के लिए श्रीनगर, देहरादून और रुड़की में केंद्र बनाए जाएंगे।

ये पात्रता जरूरी

आवेदक OBC या SCश्रेणी का हो। उसके परिवार की वार्षिक आय आठ लाख रुपये से अधिक न हो। स्नातक में कम से कम 50 प्रतिशत अंक हासिल किए हों। दाखिले के लिए सीईटी पास होना जरूरी है। निशुल्क कोचिंग के लिए 100 अंकों की परीक्षा होगी, जिसमें बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। सही जवाब देने पर दो अंक मिलेंगे जबकि चार गलत जवाब देने पर एक अंक काट लिया जाएगा। आवेदकों से जनरल इंग्लिश, जनरल हिंदी, हिस्ट्री, पॉलिटी, इकोनॉमी, कल्चर, जियोग्राफी, जनरल साइंस एंड एनवायरमेंट, रीजनिंग व मेंटल एबिलिटी से सवाल पूछे जाएंगे।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments