Monday, May 20, 2024
Homeउत्तराखण्डएसटीएफ साइबर क्राइम पुलिस ने नैनीताल को बम से उड़ाने की धमकी...

एसटीएफ साइबर क्राइम पुलिस ने नैनीताल को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले को आंध्र प्रदेश से किया गिरफ्तार

 

“उत्तराखण्ड के जनपद नैनीताल को बम बलास्ट से उडाये जाने धमकी देने वाला आन्ध्रप्रदेश से गिरफ्तार“ 

“ जगह- जगह पर बम बलास्ट की धमकी की जिम्मेदारी हिजबुल मुजाहिद्दीन की होना बताया “ 

“प्रकरण के सम्बन्ध में जनपद नैनीताल के थाना तल्लीताल में किया गया मुकदमा पंजीकृत“

 “ प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुए  विवेचना एस0टी0एफ0 के अधीन साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड देहरादून को स्थानान्तरित किया गया“

देहरादून : मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के निर्देशो के क्रम में प्रदेश के निवासियों को साइबर अपराधियों द्वारा जनता  से ठगी करने वालो पर सख्ती कार्यवाही एवं सोशल मीडिया पर निगरानी रखते हुए पुलिस महानिदेशक द्वारा एसटीएफ व साइबर पुलिस को प्रभावी कार्यवाही हेतु दिशा निर्देश दिये गये है। नैनीताल पुलिस के ऑफिशियल पेज पर नितिन शर्मा नाम से फेसबुक यूजर द्वारा We will blast bomb in different parts of nanital within 24 hours all the bombs will blast एवं Hijbul Mujahideem takes the responsibility दो धमकी भरे संदेश प्राप्त हुआ, जो कि राष्ट्रीय सुरक्षा और बम बिस्फोट से मानव जीवन को क्षति पहुँचाने सम्बन्धित प्रकरण के सम्बन्ध में थाना तल्लीताल जनपद नैनीताल में मु0अ0सं0 40/23 धारा 66 एफ आईटीएक्ट में पंजीकृत किया गया। राष्ट्रीय सुरक्षा और बम बिस्फोट से मानव जीवन को क्षति पहुँचाने सम्बन्धित प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये उक्त अभियोग की विवेचना तत्काल उच्चाधिकारीगणों के निर्देशन पर साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन को स्थानांतरित की गयी। 
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्पेशल टास्क फोर्स आयुष अग्रवाल द्वारा इस अभियोग के शीघ्र अनावरण व राष्ट्रीय सुरक्षा हित में एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक चन्द्र मोहन सिंह को निर्देशित किया गया  जिनके द्वारा  उक्त अभियोग के शीघ्र अनावरण हेतु स्पेशल टीम का गठन किया जाये। जिस क्रम में दो टीमों का गठन किया गया जिसमें एक टीम तकनीकी विश्लेषण का दायित्व सौंपा गया, जिसमें प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुए शीघ्र तकनीकी तौर पर विश्लेषण कर जानकारी एकत्रित करें, तथा  दूसरी टीम में साइबर थाने में नियुक्त निरीक्षक विकास भारद्वाज को उक्त अभियोग के सफल अनावरण हेतु विवेचना सुपुर्द की गयी, जिनके सहायतार्थ तकनीकी टीम को नियुक्त किया गया।
भौतिकी व तकनीकी विश्लेषण से  जानकारी प्राप्त की गयी। संदिग्ध व्यक्ति का नाम नितिन शर्मा पुत्र सुरेन्द्र शर्मा जो कि दिल्ली का निवासी है, किन्तु जिसके द्वारा अपना धर्म परिवर्तन कर खालिद नाम से पहचाना जाना व आन्ध्रप्रदेश का होना बताया गया है । इससे पूर्व भी उक्त संदिग्ध व्यक्ति द्वारा 04 अक्टूबर 2022 को नैनीताल कन्ट्रोल रुम को इस प्रकार की भ्रामक सूचना  जिसमें नैनीताल के विभिन्न स्थानों में बम बलास्ट  होने की सूचना दी गयी थी। फिलहाल उक्त प्रकरण में गम्भीरता से पूछताछ की जा रही है। जहाँ पे इससे कहाँ का रहने वाला है इसके द्वारा क्यों इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया व विभिन्न पहलूओं पर भी पूछताछ की जा रही है। पूछताछ के दौरान एक अहम बात सामने आयी कि जगह- जगह पर बम बलास्ट होने की सूचना  नैनीताल पुलिस को दी गयी थी जिसकी जिम्मेदारी हिजबुल मुजाहिद्दीन लेता है।  फिलहाल उक्त प्रकरण में गम्भीरता से पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में यह भी जहाँ पे इससे कहाँ का रहने वाला है इसके द्वारा क्यों इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया व विभिनन पहलूओं पर भी पूछताछ की जा रही है। 
साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड देहरादून का यह अब तक का जटिल व तकनीकी प्रकरण सामने आया है। जिसमें टीम द्वारा कई चुनौतियों का सामना करते हुए 20 दिन विजयवाड़ा व आन्ध्रप्रदेश के विभिन्न जनपदों में जाकर दर्जनों सीसीटीवी खंगाल कर महत्तवपूर्ण  जानकारी  प्राप्त कर उक्त व्यक्ति की तलाश की गयी । 

अपराध का तरीका

13 जुलाई 2023 को उपरोक्त संदिग्ध व्यक्ति द्वारा अमित शर्मा के नाम से एक जीमेल अकाउन्ट बनाया गया तथा फर्जी फेसबुक अकाउन्ट बनाकर उक्त अकाउन्ट को चलाया गया । इसके पश्चात उक्त व्यक्ति द्वारा 27 जुलाई 2023 को फर्जी मेल आईडी व फेसबुक का प्रयोग कर उसके द्वारा नैनीताल पुलिस को इस प्रकार से धमकि भरा सन्देश हिसबुल मुजाहिद्दीन के नाम से प्रेषित कर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डाले जाने सम्बन्धी गम्भीर अपराध कारित किया गया।  

गिरफ्तार अभियुक्त का नाम

  1. नितिन शर्मा पुत्र स्व0 सुरेन्द्र शर्मा निवासी 481/2बी  मन्दिर मार्ग बलजीत नगर थाना पटेलनगर नई दिल्ली ।

बरामदगी

  1. आधार कार्ड – 01
  2. ड्राईविंग लाइसेन्स – 01
  3. वोटर आईडी कार्ड – 01

पुलिस टीम

  1. अंकुश मिश्रा – पुलिस उपाधीक्षक साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड,देहरादून।
  2. विकास भारद्वाज – निरीक्षक साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड,देहरादून।
  3. राजेश ध्यानी –  उप निरीक्षक साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड,देहरादून।
  4. राजीव सेमवाल – उप निरीक्षक साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड,देहरादून।
  5. शादाब अली – आरक्षी साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड,देहरादून।
प्रभारी एसटीएफ उत्तराखण्ड आयुष अग्रवाल द्वारा जनता से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार के लोक लुभावने अवसरो/फर्जी साइट/धनराशि दोगुना करने व टिकट बुक करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें । किसी भी प्रकार के ऑनलाईन कम्पनी की फ्रैन्चाईजी को बुक कराने से पूर्व उक्त साईट का पूर्ण वैरीफिकेशन स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें तथा गूगल से किसी भी कस्टमर केयर नम्बर सर्च न करें व शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें । वित्तीय साईबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें । इसके अतिरिक्त गिरफ्तारी के साथ-साथ साईबर पुलिस द्वारा जन जागरुकता हेतु अभियान के अन्तर्गत हैलीसेवा वीडियो साइबर पेज पर प्रेषित किया गया है। जिसको वर्तमान समय तक काफी लोगो द्वारा देख कर शेयर किया गया है।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments