कोटद्वार की दवा फैक्ट्री पर तेलंगाना ड्रग डिपार्टमेंट ने मारा छापा, कोरोना काल में भी पड़ चुका छापा

0
276
Google search engine

कोटद्वार। कोटद्वार में तेलंगाना के ड्रंग इंस्पेक्टर की मौजूदगी में एक टीम ने स्थानीय पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सिगड्डी सिडकुल में एक फार्मा फैक्टरी में छापा मारा।
इस मामले में देर रात तक टीम की कार्रवाई जारी रही। तेलंगाना की टीम व उत्तराखंड पुलिस की टीम बृहस्पतिवार को ही मामले में कुछ कहने की बात कर रही है। ये भी बताया जा रहा है कि तेलंगाना में कुछ नकली दवाइयों की खेप पकड़ी गई है जिसके तार कोटद्वार के सिगड्डी सिडकुल की एक फैक्टरी से जुडे़ बताए जा रहे हैं। टीम देर तक तक फैक्टरी को खंगाल रही है। हालांकि यहां से टीम के हाथ क्या लगा यह जानकारी फिलहाल सार्वजनिक नहीं की गई है। यह वही फैक्टरी बताई जा रही है, जिसमें कोरोनाकाल के दौरान अप्रैल 2021 में दिल्ली में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनने व बेचने का नाम सामने आया था। तब दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने यहां छापा मारा था, हालांकि उस दौरान यहां कुछ भी बरामद नहीं हुआ।बीते वर्ष सितंबर माह में गाजियाबाद में भी कोटद्वार से नकली दवाइयों की खरीद फरोख्त की बात सामने आई थी। तब वहां की पुलिस ने चार सप्लायरों को गिरफ्तार कर उनके पास से भारी मात्रा में नकली दवा बरामद की थी। पूछताछ में आरोपियों ने कोटद्वार में ही नकली दवाओं के बनने की बात स्वीकारी थी। अब एक बार फिर से कोटद्वार में नकली दवाओं की सुगबुगाहट से पौड़ी जिले की पुलिस और खुफिया तंत्र अलर्ट हो गया है। सूचना लगते ही सिगड्डी सिडकुल एरिया में चल रहीं फार्मा कंपनियों की फैक्टरियों में हड़कंप मचा गया है। यहां की फैक्टरियों के ज्यादातर कर्मचारी बाहरी राज्यों के हैं। सिगड्डी ग्रोथ सेंटर में भी करीब एक दर्जन फार्मा कंपनियां हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here