कोटद्वार में मजाक बनाकर रह गया है तहसील दिवस, 2 घंटे अधिकारियों का इंतजार करते रहे फरियादी। फिर उदास मन से चले घर की ओर

0
164
Google search engine

उत्तराखंड में तहसील स्तर पर जन समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करने के लिए शासन द्वारा तहसील दिवस के आयोजन की व्यवस्था की गई है, जिसमें विभागीय अधिकारियों की उपस्थिति भी अनिवार्य की गई है। लेकिन कोटद्वार तहसील में फरियादियों की समस्याओं का निराकरण तो दूर, तहसील में अधिकारियों की उपस्थिति का भी सवाल बन गया है। आपको बता दे कोटद्वार में तहसील दिवस के आयोजन पर चार फरयादियों को 2 घंटे तक अधिकारियों का इंतजार करना पड़ा, लेकिन अधिकारियों ने तहसील परिसर में समय से कदम रखने की जहमत तक नहीं उठाई। आखिरकार फरियादियों ने तहसील के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी उमेश चंद्र पंथारी को अपनी शिकायतें थमाई और घर लौट चलें। फरियादियों में से तीन फरियादी राजस्व विभाग की शिकायतें लेकर पहुंचे थे जबकि एक खाद्य विभाग से संबंधित शिकायत थी। कोटद्वार तहसील के अधिकारियों का ये रवैया आमजन की एक और समस्या बन चुका है। तहसील विभागीय अधिकारियों को तहसील दिवस को गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि फरियादी आस लगाकर ही इन कार्यक्रमों में पहुंचते हैं इसलिए अधिकारियों को जिम्मेदारी के साथ आगे आकर जनता की तकलीफों का समाधान करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here