Thursday, May 23, 2024
Homeउत्तराखण्डराजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसवाखेडी के सेवानिवृत्त शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा को...

राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसवाखेडी के सेवानिवृत्त शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा को दी भावभीनी विदाई

बसवाखेडी : राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसवाखेडी में तैनात शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा को सेवानिवृत्ति के बाद विदाई दी गई। कार्यक्रम का शुभारम्भ मां सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर किया गया और छात्राओं द्वारा स्वागत गीत की मनमोहक प्रस्तुति दी गयी। शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा को माल्यार्पण कर उन्हें स्मृति चिह्न व अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया गया। विदाई समारोह में छात्र-छात्राओं ने भी माल्यार्पण कर स्मृति चिन्ह भेंट किये। सेवानिवृत्ति समारोह में विद्यालय के स्टाफ बच्चों और समस्त ग्राम वासियों द्वारा माला, शॉल व उपहार देकर ग्रामीणों एवं विद्यालय परिवार द्वारा सेवानिवृत्त शिक्षक का भव्य स्वागत किया।

विदाई समारोह में पूर्व प्रधान मनोज कुमार ने उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए उन्हें एक कर्तव्यनिष्ठ एवं स्वच्छ छवि का शिक्षक बताया। शिक्षक अब तक सिर्फ एक स्कूल के बच्चों का जीवन साधते थे लेकिन अब ये जिम्मेदारी बढ़कर पूरे समाज के लिए हो गई है। अब इनका दायरा पूरे समाज के लोगों तक है और ये समाज को बेहतर दिशा दिखाने का काम करेंगे। कहा कि सेवानिवृत्त शिक्षक एक कर्मठ, मृदुभाषी व शिक्षा प्रेमी शिक्षक हैं। छात्र छात्राओं की शैक्षणिक विकास एवं संस्कृति तथा अनुशासन प्रदान करने में सदैव तत्पर रहे।

कार्यक्रम में राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसवाखेडी में गणित के शिक्षक रामबीर सिंह ने कहा कि सेवानिवृत्ति एक सरकारी प्रक्रिया है, जो सभी सरकारी कर्मी के साथ लागू होती है। परंतु इनके साथ जितने दिन भी मैंने कार्य किया बहुत कुछ इनसे सीखने का मौका मिला। शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा बच्चों के बीच पिता तुल्य सहयोगात्मक अधिगम को प्रदर्शित करते रहे हैं। अध्यापन में हमेशा बच्चों की आने वाली व्यवहारीक एवं सैद्धांतिक समस्याओं का सहजता के साथ समाधान करते हुए बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए हमेशा तत्पर रहे हैं।

राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसवाखेडी के शिक्षक राधेश्याम ने कहा कि विद्यालय में देवी प्रसाद शर्मा की कमी खलेगी और कहा कि यह मेरे बड़े भाई के समान अभिभावक तुल्य हैं। उन्होंने सेवानिवृत्त शिक्षक के कुशल व स्वस्थ जीवन की कामना की। कहा कि कार्यों को सरलता से निपटना उनकी मुख्य विशेषता थी। सरल व्यक्तित्व के धनी, अपने कर्तव्यों के प्रति जवाब देह और शिक्षक की सेवा शर्तों पर हमेशा खरे उतरे। उन्होंने विद्यालय पूरे मान को सजाने संवारने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। उनसे कई शिक्षकों ने काफी कुछ सीखा है। विदाई के समय कष्ट होना स्वाभाविक है, लेकिन यह नौकरी की एक अनिवार्य प्रक्रिया है। खुशी इस बात की है कि बिना किसी अवरोध के श्री शर्मा ने अपना समूचा कार्यकाल निर्विघ्न रूप से पूरा किया। शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा ने विद्यालय में 09 वर्ष पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी के साथ मेहनत करते हुए पूरे किए इनका कार्यकाल सराहनीय रहा इनके उज्जवल भविष्य की विद्यालय परिवार ईश्वर से कामना करता है l

राजकीय प्राथमिक विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक सुनील कुमार ने शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा बहुआयामी प्रतिभा वाले एक अनुशासन प्रिय मृदुभाषी एवं सफल शिक्षक के रूप में अपने दायित्व का निर्वहन किए जिसे सभी सदैव याद रखेंगे। शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा की कार्यशैली शिक्षकों के लिए प्रेरणादायी एवं अनुकरणीय है। शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा के सेवानिवृत्ति पर उनके दीर्घायु एवं स्वस्थ रहने की शुभकामना दी । राजकीय प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक सुशील कुमार ने उनके कार्यकाल की सराहना करते हुए उन्हें शिक्षण और छात्र-छात्राओं के प्रति समर्पित शिक्षक बताया और कहा कि देवी प्रसाद शर्मा के कर्मठता, त्याग, सहाशी, लता, सरल सह स्वभाव, सदैव प्रसन्न दिखना कभी क्रोध न करना जैसे प्रशंसनीय कार्यों को याद किया गया। और कहा कि अपने कार्यों के चलते ही समाज में उनकी विशिष्ट पहचान है।

विदाई समारोह को सम्बोधित करते हुए लाइव एसकेजी न्यूज़ के सम्पादक अवनीश कुमार ने कहा कि राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसवाखेडी में तैनात राष्ट्रीय पुरुष्कार से सम्मानित शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा के द्वारा बसवाखेडी गाँव में शिक्षा की नई अलख जगाई है। विद्यार्थियों को शत प्रतिशत रिजल्ट लाने के लिए वह विद्यार्थियों को घर पर निशुल्क पढ़ाया करते थे और परीक्षा के समय बच्चों को घर-घर जाकर पढ़ाते थे । विद्यालय एवं गाँव शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा का सदैव ऋणी रहेगा। कहा शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नहीं होता है। वह जीवन के अंतिम समय तक समाज हित में कार्य करता है। शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा बहुमुखी प्रतिभा एवं व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति हैं। सिखाने की अधिगम प्रक्रिया को बच्चों के बीच विषय वस्तु के साथ हमेशा सरल और तकनीकी रूप से प्रस्तुत करते रहे हैं। विद्यालय की सांस्कृतिक, सामाजिक एवं व्यक्तित्व विकास के सहयोगात्मक क्रियाकलापों में सक्रिय भूमिका रही है। सामाजिक क्षेत्र से जुड़े रह कर सरल मृदुभाषी व्यवहार के साथ लोगों के बीच अपनी सादगी पूर्ण जीवन के लिए अलग पहचान बनाई है। उनका उच्च एवं आदर्श विचार तथा मैत्रीपूर्ण व्यवहार लोगों को प्रभावित करता रहा है।

विदाई समारोह में विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक ब्रजपाल सिंह, देवेन्द्र कुमार, शिक्षिका विजया सती सहित विभिन्न लोगों ने अपने विचार व्यक्त किये । कार्यक्रम में शिक्षिका विजया सती, गणित के शिक्षक भंडारी जी, हिंदी के अध्यापक, राजकीय प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक सतीश कुमार, दुर्गा पुस्तक भंडार से विकास मित्तल, विनीत कुमार सहित सेवानिवृत्त शिक्षक देवी प्रसाद शर्मा के परिजन एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे । कार्यक्रम का संचालन विद्यालय में गणित के शिक्षक रामबीर सिंह के द्वारा किया गया ।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments