Wednesday, May 22, 2024
Homeउत्तराखण्डगेप्स ने की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को भारत रत्न की...

गेप्स ने की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को भारत रत्न की मांग

कोटद्वार । ग्राम्य एकता प्रगति प्रेमांजलि समागम समिति ने पदमपुर मोटाढांग में सांस्कृतिक प्रभारी रेखा ध्यानी की अध्यक्षता में देश के महान शिल्पी, निष्काम कर्मयोगी, आत्मनिर्भर भारत के निर्माता, विश्व के सबसे प्रभावशाली व्यक्तित्व, मां भारती के सपूत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस को हर्षोल्लास के साथ मनाया एवं उनके सुखद, स्वस्थ एवम दीर्घ जीवन की मंगल कामना की। इस अवसर पर गेप्स के संस्थापक एवं देव भूमि उत्कर्ष सेवा समिति के संयोजक राम भरोसा कंडवाल ने कहा कि भारत की धरती देवताओं की धरती है, जब जब इस धरती पर अपराध  एवं अत्याचार बढ़ा है तब तब ईश्वर ने अपने प्रतिनिधि के रूप में किसी न किसी महान व्यक्ति को भारत माता की रक्षा एवं उसके गौरव को बढ़ाने के लिए अवतरित किया है। आदरणीय मोदी जी में भी वे सभी गुण समाहित हैं जो मर्यादा पुरुषोत्तम में होने चाहिए।इस अवसर पर कंडवाल ने मोदी पर लिखी अपनी एक रचना “पड़ते चरण तेरी महकी यह धरती,अवतरित धरा पर मोदी हुए हैं” प्रस्तुत कर खूब वाह वाही लूटी।इस अवसर पर कंडवाल ने सभी को भगवान विश्वकर्मा की जयंती की बधाई दी एवं मां भारती के महान रत्न प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को जन्म दिवस की शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए अनुरोध किया कि 78 वर्षीय भारत के सुरक्षा सलाहकार राष्ट्र भक्त आईपीएस अजीत कुमार डोभाल द्वारा देश सेवा में किया गया योगदान को नकारा नही जा सकता इसलिए उन्हें राष्ट्र की सर्वोत्तम सेवा के लिए भारत रत्न से सम्मानित किया जाय।
कंडवाल द्वारा प्रस्तावित प्रस्ताव का सभी ने करतल ध्वनि से स्वागत किया। इस अवसर पर गेप्स के पूर्व अध्यक्ष एवं संरक्षक डॉ चंद्रमोहन बडथ्वाल ने कहा कि आदरणीय मोदी के हाथो देश सुरक्षित है और वे राष्ट्र के महान शुभ चिंतक हैं। उपाध्यक्ष दिनेश चौधरी ने कहा कि आदरणीय मोदी जी धरातल से जुड़े महान कर्म योगी हैं जो राष्ट्र हित में अपना हर कदम फूंक फूंक कर रखते हैं, जिन्होंने अपना सारा सुख चैन राष्ट्र हित में समर्पित किया है।मनमोहन काला ने कहा कि जी 20 की बैठक में आए सभी राष्ट्रध्यक्ष मोदी जी की स्नेहिल अगवानी एवं मेजबानी से भाव विह्वल थे। उन्होंने इस सम्मेलन में यह साबित किया कि उनके लिए राष्ट्र एक घर है। नीरजा गौड़ ने उन्हें विश्व का सर्वोपरि नेता बताते हुए उन्हें शांति दूत की संज्ञा दी।महामंत्री इंजीनियर जगत सिंह नेगी ने उन्हें एक कुशल प्रशासक एवं राजनीतिज्ञ ही नहीं बल्कि एक महान संत बताते हुए कहा कि आज पूरा विश्व उन्हें अपना मार्गदर्शक मानता है। मीनाक्षी बडथ्वाल ने कहा कि विश्व के अधिकांश देश अपने राष्ट्र का सर्वोपरि सम्मान दे चुके है जो कि भारत की एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। देउसे के महामंत्री रामाकांत कुकरेती ने कहा कि मोदी जी का उदय सवा सौ करोड़ की जनता के आह से उपजा एक बल है जिसने भारत को ऋण से उऋण किया है और एक समृद्ध भारत की तरफ बढ़ता कदम बताया।कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए रेखा ध्यानी ने कहा कि आदरणीय मोदी जी जैसा प्रधान मंत्री न भूतो न भविष्यती। उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री रात दिन देश की सेवा में लगे है जिन्होंने अपने दोनो कार्यकाल के दौरान कभी छुट्टी नहीं ली मोदी हमारे राष्ट्र ध्वज के बीचोबीच बने चक्र की 24 तिल्लियों जैसे राष्ट्र को दिन रात बेहतर से बेहतर बनाने में लगे हैं ।
 
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments