उत्तराखंड पुलिस का नकली चेहरा, छीना चमोली की महिलाओं का शौर्य।

0
9000

उत्तराखंड पुलिस की बेहद शर्मनाक हरकत, एक तरफ उत्तराखंड सरकार शराब बेचने के लिए अपनी सारी ताकत झोंक रही है। तो दूसरी तरफ उत्तराखंड की पुलिस बेशर्मी की हद पार कर रही है। चमोली में काफी लंबे समय से सक्रिय एक शराब माफ़िया को महिलाओं ने अपनी जान पर खेलकर पकड़ा और शराब के ज़खीरे सहित उसे पुलिस के हवाले कर दिया। लेकिन हद्द ये है की पुलिस ने इन महिलाओं का मनोबल बढ़ाने और सम्मान करने के बजाए न सिर्फ सारा श्रेय ख़ुद लिया बल्कि फिल्मी तरीके से शराब के तस्करों को महिलाओं से लेकर बाद में उसके साथ फोटो खिंचवा कर मीडिया को ये बताया गया की, शराब का ये तस्कर चमोली पुलिस द्वारा पकड़ा गया। दरअसल इस क्षेत्र में काफी समय से शराब माफ़ियाओं द्वारा अवैध शराब की तस्करी चल रही थीं जिसके चलते गांव कर लोग काफी समय से परेशान थे, 19 जून दोपहर को एक महिला घास काटने के लिए जंगल जा रही थी कि रास्ते मे उसे शराब माफ़िया की गाड़ी दिखी उसने तुरंत इसकी सूचना गांव की अन्य महिलाओं को दी महिलाओं ने तुरंत खेट गदेरा के पास रास्ता जाम किया और अपनी जान की चिंता किये बिना सभी ने मिलकर शराब माफ़िया को बंधी बना लिया और इसकी सूचना पुलिस को दी जिसके तीन घंटे बाद वंहा पुलिस पहुँच गई। गांव के समाज सेवी बसंत शाह बताते है को ये घटना सोमवार 3 बजे की है। और मंगलवार को चमोली पुलिस और उत्तराखंड प्रशाशन ने एक प्रेस रिलीज़ जारी कर दी कि, एक सर्च ऑपरेशन में उत्तराखण्ड पुलिस ने इस शराब माफिया को शराब सहित पकड़ा।

पुलिस वालों की इस हरकत से गाँव के लोग बेहद नाराज़ है।

Source – राजू गुसाईं

चमोली जिले में आदिबद्री के करीब खेट गांव में 19 जून को शाम 3 बजे गांव की महिलाओं ने हरियाणा से उत्तराखंड में शराब तस्करी कर रह एक शराब माफिया को पकड़ कर बंधक बनाया।
पुलिस अपनी जूठी तसवीर खिंचते हुए

पुलिस अपनी जूठी तसवीर खिंचते हुए

उत्तराखंड की वीरांगना महिलाएं, जिन्होंने अपनी जान की परवाह किये बिना शराब माफिया को पकड़ कर बंधी बनाया और पुलिस के हवाले किया।

सभी तस्वीरे राजू गुसाईं को वाल से।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here