कोटद्वार के दीपक रावत ने बनाई उत्तराखंड की पहली एनिमेशन फिल्म, इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में मचाई धूम

0
1643

उत्तराखंड राज्य की पहली एमिनेशन शॉर्ट फिल्म कश्मकश सेंसर बोर्ड से पास होने के बाद अब देश और विदेश के कई पुरस्कारों से सम्मानित हो रही है। फिल्म को उत्तराखंड के ऊधम सिंह नगर जिले में एसबीआई में तैनात दीपक रावत ने अपने चार दोस्तों के साथ मिलकर तीन महीने में तैयार किया है। दीपक मूल रूप से पौड़ी जनपद के कोटद्वार के रहने वाले है।फिल्म कश्मकश को दीपक रावत ने डायरेक्ट किया, जबकि एनिमेशन भूपेंद्र सिंह कठैत, राहुल मैठानी , वॉइस ओवर अतुल विश्नोई और सबटाइटल श्वेता रावत ने तैयार किया है, फिल्म को मई 2022 में बनाना शुरु किया था और जुलाई 2022 में सात मिनट की शॉर्ट फिल्म बनकर तैयार हो गई थी। शॉर्ट फिल्म कश्मकश को यूथ फिल्म फेस्टिवल दिल्ली, पिंक सिटी इंटरनेशनल शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल जयपुर, ग्लोबल इंडिपेंडेंट फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया कोलकाता, बुसान इंडी फिल्म फेस्टिवल दक्षिण कोरिया, अजमान अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव अबू धाबी, सऊदी अरब स्वतंत्र फिल्म महोत्सव सहित देश और विदेश के कई फिल्म फेस्टिवलो में पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।निर्देशक दीपक रावत ने बताया कि कश्मकश फिल्म की कहानी एक ऐसे नवविवाहित जोड़े के बारे में है जिसमें बच्चे को जन्म देते हुए पत्नी की मृत्यु हो जाती है, इस फिल्म को पांच लोगों की टीम ने तीन महीने में बनाकर तैयार किया था। उन्होंने कहा कि सात मिनट की इस फिल्म को हमने सेंसर बोर्ड से पास कराने के बाद देश और विदेशों में आयोजित होने वाले फिल्म फेस्टिवल में भेजा गया था, जहां दर्शकों द्वारा इस फिल्म को काफी पंसद किया जा रहा है।

Previous articleप्रधानमंत्री बोले-विकास के नवरत्नों से बदलेगी देवभूमि की तस्वीर। मुख्यमंत्री धामी की खुलकर की तारीफ, कहा-नवरत्नों की माला पिरोने वाले इंफ्रा प्रोजेक्ट्स को धामी जी प्रदान कर रहे नवीन ऊर्जा
Next articleहरिद्वार हरी की पौड़ी से बच्चा चोरी। चोरी करने वाले पति-पत्नी गिरफ्तार, बच्चा सकुशल बरामद
'संस्कृति और उत्तराखण्ड' समाचारपत्र आपका अपना समाचारपत्र है जिसके माध्यम से आप अपने विचार जनता के साथ साशन व प्रसाशन तक पहुचा सकते है। आपके विचार व सुझाव सादर आमंत्रित है। संपादक-अवनीश अग्निहोत्री संपर्क शूत्र-9897919123 समाचार पत्र की पंजीकरण संख्या-UTTHIN/2013/51045 (सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय-भारत सरकार)