कोटद्वार में सबसे बड़ी समस्या बनता जा रहा अतिक्रमण। नगर निगम दे रहा अतिक्रमणकारियों व संदिग्धों को पनाह, मेयर भी वोट बैंक के कारण रहती है चुप

0
746

कोटद्वार- पिछले कुछ वर्षों में कोटद्वार बाजार के मुख्य मार्गों पर चलना इतना मुश्किल हो चुका है कि पैदल चलने वाले लोग हो या छोटे-बड़े वाहनों से आने वाले यात्री सभी को परेशानी झेलनी पड़ रही है। नगर के गंगादत्त जोशी मार्ग सहित कई मार्गों पर अतिक्रमणकारियों ने खुलेआम प्रसाशन को चुनौती दे दी है कि हिम्मत हो तो हमे हटाकर दिखाओ। और सबसे बड़ी बात की ये ज्यादातर अतिक्रमणकारी बाहरी लोग है जो यहां बाहर से आकर व्यापार भी करते है और कुछ तो आपराधिक गतिविधियों में भी सम्मिलित है। इसके बावजूद भी इन पर कोई शख्त कार्रवाई नही होती। अतिक्रमणकारियों का गढ़ बने गंगादत्त जोशी मार्ग के निवासी कुछ कांग्रेसी नेताओं का खुला राज इस मार्ग में चलता है क्योंकि नगर निगम की लगाम जिस मेयर के हाथ मे है वो खुद कांग्रेस पार्टी से है। आये दिन भाजपा के खिलाफ कई मुद्दे उठाते हुए कांग्रेसी नेता धरना प्रदर्शन, पुतला दहन व नारेबाजी करते है लेकिन कांग्रेस पार्टी के ये नेता अतिक्रमण के मामले में खामोश ही रहते है। कभी अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के लिए इनके द्वारा कोई ठोस कदम नही उठाया जाता। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी द्वारा अपने कार्यकाल में बेस हॉस्पिटल के निर्माण के साथ ही कई कार्य भले ही किये गए हो, लेकिन सोशल मीडिया पर हमेशा जनता द्वारा उन पर बाहरी व संदिग्ध व्यक्तियों को शरण देने के आरोप लगते रहे है। और आगामी चुनाव में भी ये एक बड़ा मुद्दा बनकर फिर सामने आएगा। इसके साथ आपको ये भी बता दें कि हालही में नए नगर आयुक्त के आते ही जैसे ही गंगादत्त जोशी मार्ग सहित अन्य मार्गों से अतिक्रमण हटवाया गया तो ये चर्चा भी काफी रही कि “अतिक्रमण हटाओ अभियान” भी दो दिन बाद ठंडा पड़ गया और इसके लिए नगर निगम में बड़े पदों पर बैठे कांग्रेसी नेताओं द्वारा दबाव बनाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here