शहर के कुछ व्यापारी कोटद्वार की जनता के लिए बने खतरा। प्रशासन के मना करने के बाद भी बाजार में बेच रहे पटाखे

0
510

कोटद्वार- अगर आप कोटद्वार शहर में रहते है और दीवाली के समय बाजार घूमने या खरीदारी करने आ रहे है तो ध्यान रखे कि साथ मे एक बाल्टी पानी या आग से बचने के लिए अग्निरोधक यन्त्र जरूर लाये। वो इसलिए क्योंकि हमारे नगर के कुछ व्यापारी ऐसे है जो अपने निजी फायदे के लिए कोटद्वार की लगभग एक लाख पच्चीस हजार की जनसंख्या की जान त्यौहार के समय जोखिम में डाल रहे है। दरअसल कोटद्वार में सड़कों की कम चौड़ाई, आबादी, पहाड़ व मैदानी छेत्रो से आने वाले वाहनों और जनता की सुरक्षा को देखते हुए प्रशासन द्वारा फैसला लिया गया कि पटाखे झण्डाचौक व अन्य मुख्य मार्गों पर न लगाकर किसी निश्चित व सुरक्षित स्थान पर बेचे जाएंगे। और इसके लिए प्रशासन द्वारा कोतवाली परिसर में मीटिंग आयोजित की गई थी जहां उपजिलाधिकारी, सीओ व कोतवाल द्वारा व्यापारियो से कहा गया कि सुरक्षा की दृष्टि से इस बार पटाखे बेचने के लिए मॉडल मोंटेसरी स्कूल कंपाउंड को चुना गया है जनता की सुरक्षा, सड़कों पर लगने वाले जाम को देखते हुए पटाखे मुख्य बाजार में न लगाएं। लेकिन इस सम्बंध में कोतवाली कोटद्वार में हुई मीटिंग का विरोध करते हुए गोखले मार्ग के एक व्यापारी ने जनता की सुरक्षा को न देखते हुए प्रशासन द्वारा लिए गए फैसले का विरोध किया और फिर कई अन्य व्यापारी भी प्रशासन के निर्णय के खिलाफ गोखले मार्ग के उक्त व्यापारी के साथ खड़े हो गए। हालांकि कई व्यापारी प्रशासन की बात से सहमत भी हुए। दरअसल गोखले मार्ग निवासी उक्त व्यापारी एक राजनैतिक व्यक्ति है जो खुद के फायदे के लिए अक्सर जनहित को लेकर लिये गए फैसलों का विरोध करता है। ऐसे में यदि बाजार में कोई भी दुर्घटना होती है तो उक्त व्यापारी व उसके अन्य साथी ही दुर्घटना के लिए जिम्मेदार होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here