पौड़ी में ऑन ड्यूटी शराब के नशे काम करने वाला ये पटवारी होगा ससपेंड। एसडीएम ने की संस्तुती

0
1368

पौड़ी। उत्तराखण्ड के पहाड़ी छेत्रो में शराब का सेवन इस कदर बढ़ चुका की इससे लोगो का निजी जीवन ही नही सरकारी कार्य भी प्रभावित हो रहे है। ऐसा ही कुछ पौड़ी जनपद में भी देखने को मिला जहा ड्यूटी के समय पर शराब पीकर काम नहीं करने और ग्रामीणों से अभद्र व्यवहार करने के आरोपी असवालस्यूं क्षेत्र के पट्टी पटवारी के निलंबन की संस्तुति एसडीएम पौड़ी ने कर दी है।
फिलहाल आरोपी पट्टी पटवारी अनिल सिंह नेगी की विस्तृत मेडिकल रिपोर्ट नहीं आ पाई है। शनिवार को पटवारी के कारनामो से परेशान ग्रामीण शराबी पटवारी को पकड़ कर एसडीएम पौड़ी कार्यालय लाए थे। जहा उन्होंने बताया कि पट्टी पटवारी जब से क्षेत्र में तैनात है तब से शराब पीकर अभद्रता करता है। ऐसे में ग्रामीणों का राजस्व संबंधी काम समय पर नहीं हो रहे है। पटवारी शराब पीने के बाद ग्रामीणों के साथ अभद्रता भी कर रहा है। नाराज ग्रामीणों ने शुक्रवार को पटवारी को पकड़ कर एसडीएम के हवाले कर दिया था। करीब दो महीने पहले हुए तबादलों के बाद आरोपी पटवारी को इस क्षेत्र का जिम्मा दिया गया था। ग्रामीणों के डीएम से भी शिकायत करने के बाद आरोपी पटवारी का जिला अस्पताल में मेडिकल करवाया गया, जहां प्रथम दृष्टा पटवारी के शराब पीने की पुष्टि हुई। हालांकि डॉक्टरों ने विस्तृत मेडिकल के लिए ब्लड सैंपल भी जांच के लिए भेजा है। इधर, ग्रामीणों की शिकायत और प्रथम दृष्टया शराब पीने की पुष्टि के बाद पटवारी को न सिर्फ पौड़ी तहसील से अटैच कर दिया गया है बल्कि एसडीएम पौड़ी केएस नेगी ने अब निलंबन की भी संस्तुति करते हुए रिपोर्ट डीएम को भेज दी है। इस मामले में डीएम ने एसडीएम को कार्रवाई के लिए कह दिया था। एसडीएम पौड़ी केएस नेगी ने बताया है कि आरोपी पटवारी के निलंबन की संस्तुति सहित रिपोर्ट डीएम को भेज दी गई है। अब आगे की कार्रवाई डीएम स्तर से होगी। लेकिन सोचने वाली बात ये है कि जिम्मेदार पद पर बैठे सरकारी कर्मचारी जब स्वयं शराब का सेवन कर आम जनता से बदसलूकी करेंगे और सरकारी काम मे लापरवाही बरतेंगे तो पहाड़ की स्तिथि और सरकारी काम यू ही कब तक प्रभावित होता रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here