देहरादून पुलिस ने पकड़ा इनामी बदमाश, 2013 से चल रहा था फरार

0
1341

देहरादून- वर्ष 2013 से फरार एवं शातिर ईनामी अपराधी हुआ गिरफ्तार।
जनपद देहरादून के ईनामी अपराधियों की धरपकड हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर एवं पुलिस अधीक्षक देहात को अपने-अपने सर्किल में वांछित/ईनामी अपराधियों का शीघ्र सत्यापन कर उनकी गिरफ्तारी के निर्देश दिये गये, फलस्वरूप पुलिस अधीक्षक नगर एवं स0पु0अ0/क्षेत्राधिकारी सदर के निर्देशन एवं पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर रितेश शाह, तथा प्रभारी एस0ओ0जी0 देहरादून श्री पी0डी0 भट्ट को जनपद देहरादून में ईनामी अपराधियों की धरपकड हेतु टीम बनाने हेतु निर्देश दिये गये थे, जिसमें थाना पटेलगनर में वाछित एवं ईनामी अपराधी प्रदीप सकलानी पुत्र भूदेव सकलानी नि0 पुजार गांव सत्यों टि0गढवाल, जिसके विरूद्ध जनपद देहरादून में बैंकों से धोखाधडी करने के 17 अभियोग जनपद के अलग-अलग थानों में पंजीकृत थें एवं सभी अभियोगों में उक्त अभियुक्त के सह अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया था। परन्तु अभियुक्त प्रदीप सकलानी एक शातिर किस्म का अपराधी था जो अपराध करने के बाद ही वर्ष 2013 से बादस्तुर फरार चल रहा था। इसके गिरफ्तारी के सम्बन्ध में एस0ओ0जी0 एवं थाना पुलिस द्वारा मैनुअल पुलिसिंग के माध्यम से इसके अस्थायी ठिकानों का पता लगाया गया। जानकारी मिली थी कि अभियुक्त प्रदीप सकलानी समय-समय पर अपने ठिकाने बदलता रहता है और वर्तमान समय में दिल्ली में मुनिरिका थाना बसन्तविहार क्षेत्र में रह रहा है।

सर्विलांस के माध्यम से उसके मोबाईल नम्बरों का पता लगाकर उसकी लोकेशन ट्रेस की गयी तो पाया कि वह वर्तमान में दिल्ली में (अधिकतर मुनिरिका में ही ) रहता है। इसके लिए पुलिस अधीक्षक नगर एवं स0पु0अ0 महोदय द्वारा एक टीम गठित कर तत्काल गिरफ्तारी हेतु दिल्ली रवाना की गयी परन्तु जब तक पुलिस टीम दिल्ली पहुंची तब तक अभियुक्त प्रदीप सकलानी दिल्ली से देहरादून के लिए प्रस्थान कर चुका था। एस0ओ0जी0 एवं थाना पटेलनगर पुलिस ने दिल्ली से लगातार अभियुक्त का पीछा करना शुरू किया गया, समय समय पर उसकी लोकेशन ट्रेस की गयी । पुलिस टीम के अथक प्रयासों के बाद अभियुक्त को आज दि0 26.08.2017 को महाराणा प्रताप स्पोर्ट कॉलेज चौक से गिरफ्तार किया गया।
पूछताछ करने पर अभियुक्त ने बताया कि मुझे पुलिस के आने का अंदेशा था इसलिए मैं आज अपने घर पुजार गांव जा रहा था और कल मेरी अपने वकील से मीटिंग थी, उसके बाद मुझे अपने वकील से मिलने हाईकोर्ट जाना था। अभियुक्त ने यह भी बताया कि मैं पहले थाना डालनवाला से चोरी तथा वर्ष 2005 में थाना डालनवाला से चोरी/धोखाधडी के केस में जेल गया था। उसके बाद मैं वर्ष 2012 में देहरादून आया मुझे दीपनगर में कृपाल सिंह कोहली नाम का व्यक्ति मिला उसके साले के पास एक रियो प्रीमियम फियेट कम्पनी की कार थी। कृपाल ने मुझे बताया कि इस कम्पनी में अगर डीलरशिप लेने के इच्छुक हो तो बात करा दूंगा उसके बाद कृपाल व मैने रियो प्रीमियम फियेट कार कम्पनी (चार पहिया) की डीलरशिप ली जिसका नाम शुभारंग डिवलेप प्रा0लि0 धर्मपुर देहरादून के नाम से पंजीकरण कराया गया। जिसका डायरेक्टर कृपाल सिंह कोहली था। फिर हमने कम्पनी से 10 गाडी मंगायी और ग्राहकों को बेच दी उसके बाद हमने अपने ही आदमी बैक में भेजे और कार के लिए लोन लेने के लिए अपने कोटेशन दिये जिससे ड्राफ्ट सीधी डीलर के नाम आया जिसे हमने कैश कर आपस में बांट लिया और हम लोग गाडी की किस्ते अपने स्तर से देते रहे, परन्तु जब गाडी की किस्ते हम जमा न कर पाये जो बैक ने हमारी शिकायत पुलिस थानों में करना शुरू कर दी तब हमें पता चला कि हमारे खिलाफ अब मुकदमें कायम होंगे तब मैं देहरादून से फरार हो गया तथा अपने सभी सम्बन्धियों से अपना नेटवर्क बन्द कर दिया ताकि पुलिस मुझ तक न पहुच सके। वर्ष 2015 तक मैं लखनऊ में रहा वर्ष 2016 में दिल्ली आ गया और मुनिरिका में किराये पर रह रहा था, क्योकि मुनिरिका दिल्ली का ऐसे कस्बा है जहां अधिकतर लोग किराये पर रहते हैं, तथा एक दूसरे से कोई मतलब नहीं रखते। अभियुक्त के विरूद्ध निम्न अभियोग निम्नांकित थानो में पंजीकृत हैं। अभियुक्त लगभग सभी अभियोगों में गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार चल रहा था। अभियुक्त के विरूद्ध और भी अभियोग होने की सम्भावना है, अभियुक्त को आपराधिक इतिहास जनपद एवं गैर जनपदों से प्राप्त किया जा रहा है।
अभियुक्त की ईनामी राशि- 10000 रूपये।

गिरफ्तार अभियुक्त प्रदीप सकलानी को आपराधिक इतिहासः-
1. मु0अ0सं0 16/14 धारा 420/467/468/120बी/323/504/506 भादवि-थाना क्लेमेन्टाउन।
2. मु0अ0सं0 37/04 धारा 379/411 भादवि – थाना डालनवाला।
3. मु0अ0सं0 243/05 धारा 420 भादवि व 41/102 भादवि – थाना डालनवाला।
4. मु0अ0सं0 5/14 धारा 420 भादवि – थाना डालनवाला।
5. मु0अ0सं0 6/14 धारा 420 भादवि – थाना डालनवाला।
6. मु0अ0सं0 146/13 धारा 406/420 भादवि – थाना नेहरूकालोनी।
7. मु0अ0सं0 208/15 धारा 403/406/467/468/420/120बी भादवि- थाना नेहरूकालोनी।
8. मु0अ0सं0 210/15 धारा 403/406/467/468/471/420/120बीभादवि-थाना नेहरूकालोनी
9. मु0अ0सं0 227/15 धारा 2/3 गैगस्टर एक्ट- थाना नेहरूकालोनी।
10. मु0अ0सं0 228/12 धारा 420/506 भादवि- थाना नेहरूकालोनी।
11. मु0अ0सं0 194/13 धारा 406/420/467/471/120बी भादवि- थाना पटेलनगर।
12. मु0अ0सं0 162/15 धारा 406/420/467/471/120बी भादवि- थाना रायपुर।
13. मु0अ0सं0 138/13 धारा 419/420/467/468/471/120बी भादवि- थाना कैण्ट।
14. मु0अ0सं0 215/13 धारा 420 भादवि- थाना कोतवाली।
15. मु0अ0सं0 338/13 धारा 420/467/468/471/120बी भादवि- थाना कोतवाली।
16. मु0अ0सं0 178/13 धारा 406/420 भादवि- थाना कोतवाली।
पुलिस टीम के सदस्यों के नामः-
1. प्रदीप कुमार राय पुलिस अधीक्षक नगर 2.लोकेश्वर सिंह सहायक पुलिस अधीक्षक 3.रितेष षाह, प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर।
4.उ0नि0 पी0डी0 भट्ट- प्रभारी एस0ओ0जी।
5.उ0नि0 अमरजीत सिंह- प्रभारी चौकी आई0एस0बी0टी।
6.आरक्षी 377 ना0पु0 सन्तोश कुमार- थाना पटेलनगर।
7.आरक्षी आषीश षर्मा- एस0ओ0जी0।
8.आरक्षी अरूण- एस0ओ0जी0
9.आरक्षी विपिन राणा – एस0ओ0जी0।

पुलिस टीम के उक्त कार्य की पुलिस अधिकारियों द्वारा प्रशंसा की गयी तथा पुलिस टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा 2500 रूपये तथा पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र द्वारा 5000 तथा अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एव कानून व्यवस्था द्वारा 10000 रूपये ईनाम की घोषणा की गयी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here