लैंसडौन वन प्रभाग के कर्मचारियों ने घूस न देने पर की मारपीट। मुकदमा दर्ज

0
1107

कोटद्वार। पौड़ी जनपद में लैंसडौन वन प्रभाग के अंतर्गत तूणीखाल चौकी में तैनात कर्मचारियों पर एक युवक ने मारपीट व पैसे मांगने का आरोप लगाया है। पीड़ित युवक को यहां राजकीय बेस चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। पीड़ित के परिजनों ने डीएफओ को शिकायती पत्र सौंपकर कार्यवाही की मांग की है। राजस्व विभाग ने पीड़ित की तहरीर के आधार पर जान लेवा हमला करने सहित संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।ग्राम जोगियाना तहसील लैंसडौन निवासी महेन्द्र सिंह ने बताया कि वह खच्चर मालिक विक्रम सिंह के साथ खच्चर में सामान ढोने का कार्य करता है। 19 सितम्बर को वह सेंधीखाल से बर्तगांव भवन निर्माण के लिए ईट लेकर गया। वापस आते समय तूणीखाल चौकी में तैनात कर्मचारियों ने उन्हें रोका। जब कर्मचारियों से रोकने का कारण पूछा तो उन्होंने शराब के नशे में अचानक डंडे से हमला कर दिया। जब मारपीट का विरोध किया तो वह गाली-गलौज व जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करने लगे। मारपीट में उनके शरीर पर गंभीर चोटें आई है। महेन्द्र ने कर्मचारियों पर पांच हजार रूपये मांगने का आरोप लगाते हुए कहा कि जब उन्होंने पैसे देने में असमर्थता जताई तो कर्मचारियों ने इस रास्ते पर न चलने की धमकी दी। उन्होंने कहा कि सेंधीखल से लैंसडौन तक जिला परिषद की सड़क है। इस मार्ग पर ग्रामीण पिछले कई वर्षो से आवाजाही करते हुए आ रहे है। साथ ही निर्माण सामग्री भी ले जाते है। पीड़ित युवक को परिजनों ने यहां राजकीय बेस चिकित्सालय में भत्र्ती कराया गया है। जहां चिकित्सकों द्वारा युवक का उपचार किया जा रहा है। उधर लैंसडौन वन प्रभाग के डीएफओ वैभव कुमार सिंह का कहना है कि महेन्द्र सिंह ने शिकायती पत्र दिया है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच लैंसडौन रेंज के वन क्षेत्राधिकारी को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही की जायेगी। उधर सेंधीखाल के पटवारी नरेन्द्र सिंह रावत ने बताया कि पीड़ित की तहरीर के आधार पर वन दरोगा भंडारी के खिलाफ जानलेवा हमला करने सहित संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here