कोटद्वार में पुलिस वाहन चैकिंग के नाम पर कर रही अवैध वसूली। एम.वी एक्ट में बढ़े जुर्माने का दिखाया जा रहा डर

0
1791

 

अवनीश अग्निहोत्री(कोटद्वार) एक तरफ कोटद्वार कोतवाली पुलिस बढ़ते अपराधों पर लगाम लगाने व यातायात नियंत्रण को लेकर दिन रात जनता की सेवा में लगी है वही कुछ पुलिसकर्मी धड़ल्ले से अवैध वसूली करने पर लगे है। दरअसल कोटद्वार में तैनात एक एसआई वाहन चैकिंग के नाम पर गाड़िया रोककर कुछ वाहन चालकों के मौके पर ही चालान कर रहा है और चालान की रकम सरकारी खाते में जा रही है तो कुछ लोगो की गाड़ी रुकवाकर गाड़ी के कागज लेकर बोलता है कि कागज शाम को आकर ले जाना। अब ये “कागज शाम को आकर ले जाना” के पीछे की कहानी ये है कि चेकिंग के दौरान भीड़ में लोगों के सामने पैसे मांग नही सकते, इसलिए शाम को चौकी या थाने में आराम से मिलकर वाहन चालकों से कहा जाता है कि या तो महंगा चालान भुगतो या 500-700 रुपये देकर अपनी गाड़ी के कागज ले जाओ। बस फिर क्या है कोई भी वाहन चालक 2-3 हजार रुपये का चालान कटने और उसे भुगतने के लिए पुलिस या कोर्ट के चक्कर लगाने से बचने के लिए 500-700 रुपये दे देता है। ये घटना आज दिनांक 29/10/2019 की है जब एक महिला अपने छोटे बेटे और बहन के साथ स्कूटी से घर जा रही थी इस दौरान वाहन चेकिंग के नाम पर उसके कागज जमा कर लिए गए मगर चालान नही काटा गया। और शाम को जब वो चालान रशीद लेने पहुची तो दरोगा जी बोले कि मोटर व्हीकल एक्ट में बढ़े जुर्माने के अनुसार महंगा चालान भुगतना है या सस्ते में मामला निपटाना है तो वो सस्ते में मामला निपटा कर पैसे दरोगा जी ने अपनी जेब मे डाल लिए। महिला का हैलमेट न लगाना एक अपराध तो है ही लेकिन बिना चालान किये पैसे लेना और राजस्व को नुकसान पहुचना उससे कई गुना बड़ा अपराध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here