CM योगी के पिता के संरक्षण में चल रही नजीबाबाद-कोटद्वार की अवैध टैक्सियां। इस बात से खुद अनजान है आनंद सिंह बिष्ट

0
1412

अवनीश अग्निहोत्री(कोटद्वार) कोटद्वार नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्तिथ लालबत्ती चौराहे से नजीबाबाद-कोटद्वार के बीच चलने वाले डग्गामार वाहनों का संचालन धड़ल्ले से हो रहा है। आपको बता दें कि इसी स्थान पर तीन स्कूल भी है जिनमे पढ़ने वाले छोटे-छोटे बच्चों को भी इन वाहनों से जान का खतरा बना रहता है। प्रशासन ने भी लालबत्ती चौक पर इंटर कॉलेज से पैट्रोल पंप तक सभी गाड़ियों की पार्किंग करने व गाड़ी रोककर सवारियां बैठाने पर पूर्णतः प्रतिबन्ध लगा दिया था। और इसी बीच कुछ समय पूर्व नजीबाबाद कोटद्वार के बीचे अवैध रूप से चलने वाली जीप, टैक्सियों द्वारा लगातार कई दुर्घटनाओं को अंजाम दिया गया जिनमे से एक में कोटद्वार निवासी दो युवाओं की मौत भी हो गयी थी। इस घटना के बाद आक्रोशित जनता ने इन जीपों का संचालन पूर्ण रूप से बंद करा दिया गया था और इसे बंद करना भी पड़ गया क्योंकि इन गाड़ियों में से ज्यादातर में फिटनेस, इंश्योरेंस, प्रदूषण प्रमाण पत्र तक नही थे साथ ही ये भेड़ बकरियों की तरह जीप में इतनी सवारियां बैठा लेते थे जितनी रोडवेज की बस में भी नही बैठाई जाती है। कुछ दिन तक जब इन डग्गामार जीपों के संचालन पर पूर्णतः प्रतिबन्ध लग गया तक इन्ही में से कुछ गाड़ी मालिकों द्वारा एक नई समिति बनाई गई जिसके नाम है “श्री गुरु गोरखनाथ टैक्सी-मैक्सी कल्याण समिति” जिसका गठन आठ जनवरी के दिन मंगलवार को किया गया, और इसमें बतौर मुख्य अतिथी नगर निगम मेयर हेमलता नेगी को बुलाया गया जिससे नगर निगम की ओर से इस समिती की गाड़ियों को किसी तरह की परेशानी होने पर मेयर साहब को याद दिला दिया जाए कि आपने ही लीसा भवन स्तिथ इस समिति के कार्यालय का उद्घाटन रिबन काटकर किया है इसलिए थोड़ा लिहाज करते हुए हमें बक्स दिया जाए। इस समिति का निर्माण आठ जनवरी को होने के ठीक अगले ही दिन से नजीबाबाद-कोटद्वार के बीच टैक्सियों का संचालन शुरू कर दिया गया और ये संचालन लालबत्ती चौराहे पर इंटर कॉलेज के आगे राष्ट्रीय राजमार्ग से फिर से किया जाने लगा। और फिर एक बार कोटद्वार के मुख्य चौराहे पर जाम की स्तिथी बनने लगी, फिर एक बार छोटे-छोटे बच्चों के लिए ये गाड़िया जान का खतरा बनने लगी, फिर एक बार भेड़-बकरियों की तरह यात्रियों को ठूस-ठूस कर बैठाया जाने लगा। और प्रशासन द्वारा गाड़ियों के लिए प्रतिबंधित किये गए इस स्थान से हो रहे अवैध वाहन संचालन पर पुलिस व अन्य संबंधित विभागों द्वारा कोई कार्यवाही नही की जा रही है। और समिति के लोगों ने अपनी गाड़ियों के बचाव के लिए न सिर्फ मेयर से कार्यालय का उद्घाटन कराया बल्कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट को समिति का संरक्षक भी बनाया गया जिससे यूपी और स्थानीय दोनों जगह अधिकारियों पर आनंद सिंह बिष्ट के नाम का फायदा उठाकर दबाव बनाते हुए अपने डग्गामार वाहनों का संचालन जारी रखा जाए। हालांकि मेयर हेमलता नेगी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट इस बात से अनजान है कि उनके नाम का फायदा अवैध टैक्सी संचालन के लिए किस तरह लिया जा रहा है लेकिन इस समिति द्वारा बड़े ही दिमाग के साथ मेयर से उद्घाटन कराया गया और आनंद सिंह बिष्ट को संरक्षक बनाया गया है। आपको बता दें कि इस समिति के निर्माण से पहले कोटद्वार नजीबाबाद के बीच दो बसें चला करती थी जिन्हें बन्द करा दिया गया। “श्री गुरु गोरखनाथ टैक्सी मैक्सी कल्याण समिति” के अध्यक्ष महेंद्र सिंह नेगी है व उपाध्यक्ष विक्रम सिंह तड़ियाल, मुकेश भट्ट सचिव, गोवर्धन डंडरियाल कोषाध्यक्ष गोवर्धन डंडरियाल है। और समिति से इस रूट पर संचालित ज्यादातर गाड़ी मालिक व चालक नजीबाबाद के निवासी है।

हमारे द्वारा कुछ दिन पूर्व कोतवाली में समस्त वाहन समितियों की बैठक की गई थी जिसमे शख्त निर्देश दिए गए कि लालबत्ती चौराहे पर केवल एक वाहन ही सवारी भरने के लिए खड़ा किया जाएगा। यदि एक से अधिक वाहन खड़े पाए जाते है तो कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

कोटद्वार कोतवाली प्रभारी निरीक्षक- मनोज रतूड़ी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here