कोटद्वार के आस-पास गुलदार की दहशत बरकरार, मानपुर के बाद अब काशीरामपुर पहुचा गुलदार

0
1046

कोटद्वार। कोटद्वार के निकट ग्रामीण इलाकों में गुलदार का आंतक थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार सुबह ग्राम सभा काशीरामपुर मल्ला व तल्ला में बाघ ने एक बछिया व सूअर के बच्चे को निवाला बना लिया। जिससे क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है। ग्रामीणों ने वन विभाग से बाघों के आंतक से निजात दिलाने के लिए क्षेत्र में पिंजरा लगाने की मांग की है।
विगत एक सफ्ताह के दौरान बाघों ने 5 से अधिक कुत्तों को अपना निवाला बना लिया है तथा दो दिन पूर्व एक गाय की बछिया को अपना निवाला बना चुका है। रविवार को सुबह लगभग 2 बजे बाघ ने एक बछिया व सूअर के बच्चे को निवाला बनाया। घटना की सूचना प्रतिदिन वन विभाग को दी जा रही है साथ ही ग्रामीण काफी समय से वन विभाग से बाघों के आंतक से निजात दिलाने के लिए पिंजरा लगाने की मांग कर रहे है लेकिन विभाग द्वारा अभी तक पिंजरा नहीं लगाया गया है। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीण बाघ के भय से सांय होते ही अपने घरों में कैद होने को मबजूर है। बतातें चलें कि विगत 27 जुलाई की रात को गुलदार ने मानपुर से सटे पदमपुर निवासी केशव सिंह की बछिया व मानुपर निवासी 44 वर्षीय राकेश मोहन खंतवाल पुत्र स्व. गुणानन्द खंतवाल पर जानलेवा हमला किया था। गुलदार के हमले से राकेश को गंभीर चोटें आई थी। ग्रामीणों ने घटना की सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दी। वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित राकेश मोहन खंतवाल को स्थानीय राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में उपचार के लिए भत्र्ती कराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here